कुछ मनुष्य बहुत ही विचित्र होते हैं। जीवन ऐसे जीते हैं, जैसे मानो उनकी मृत्यु होगी ही नहीं। इस अहंकार में वो भूल जाते हैं की जैसे-जैसे हम श्वास लेते हैं, जैसे-जैसे क्षण जीते हैं, वैसे वैसे मरते भी जाते हैं। क्योंकि हमारा यह जीवन श्वास पर ही तो आधारित है! श्वास है तो जीवन है, श्वास रुक जाए तो जीवन भी थम जाता है। हमारे जीवन की ज्योत कभी भी बुझ सकती है।
और कितना समय हमारे पास है उसका हमें कोई अनुभव नहीं। तो जो क्षण हम अभी जी सकते हैं क्यों ना उसका सदुपयोग ही किया जाए? कोई सत्कर्म किया जाए?  ऐसे कर्म किए जायँ जिससे हमारे व्यक्तित्व में निखार आ जाए, कि हमारी मृत्यु के पश्चात भी यह संसार हमें ह्रदय में जीवित रखे। क्योंकि एक बात तो तय है- मृत्यु एक अटल सत्य है। इसे स्वीकारना ही होगा और इस बात का ध्यान रखना ही होगा।
तो जो समय है उसका सदुपयोग कीजिए।
और मेरे साथ प्रेम से कहिए।
राधे राधे।🙏🏻🙏🏻

Pay Anything You Like

Chanchal Om Sharma

Avatar of chanchal om sharma
$

Total Amount: $0.00