लीना जी की पोस्ट पढ़कर मुझे कुछ याद आ गया जो मै शेयर करना चाहती हूं यहां।

मैंने पिछले ही साल August मे पहली बार subscription लिया था। मै os.me मे नयी थी। मुझे तब पता नहीं था कि स्वामीजी महीने मै केवल पहली और तीसरी शनिवार को ही पोस्ट upload करते है। मुझे you tube के ज़रिए स्वामी के बारे में पता चला। फिर किसी एक वीडियो मे उन्होंने बद्रिका आश्रम का जिक्र किया ऐसे ही मजाक मजाक मे। तब मुझे पता चला कि स्वामीजी का आश्रम भी है कोई । फिर मैंने google मे उनको search किया तब जाकर मुझे उनकी website, blogs, books aur आश्रम का पता मिला। मै फिर तुरंत एक के बाद एक उनके bolgs पड़ने लगी। फिर पता चला कि limitation हैं तो मै अपने घर के सारे फोन से access kr उनकी ब्लॉग्स पड़ने लगी।(sorry swamiji….) . पर उन सब का भी कोटा खत्म। मुझे कुछ दिन wait करना पड़ा subscription  ke लिए। फिर मुझे subscription मिल गया।

मै स्वामीजी कि जो ब्लॉग्स है उनके date calendar से मैच करके देखने लगी। सब शनिवार को ही था। पर उस समय शैली मैम और गुरु पूर्णिमा के कारण स्वामीजी एक्स्ट्रा पोस्ट डाल दिए थे तो मुझे लगा alteration मे डालते होगे, एक एक शनिवार छोड़कर।

और उस समय भी ऐसे ही पांच शनिवार पड़े थे शायद। मुझे लगा चौथा तो निकाल गया कोई पोस्ट नहीं आया तो अब तो जरूर आएगा। मै हफ्ते भर पहले से दिन गिनने लगी थी। गुरु और शुक्रवार तो इतना धीरे धीरे निकला। और शनिवार आया। मै पक्का sure थी आज तो पोस्ट आएगा ही। पर पता नहीं था कितने टाइम स्वामीजी upload करते है।

सुबह से मोबाइल लेकर बैठी थी। 5,6,7,8,9,10….. बज गए कोई पोस्ट नहीं। मुझे लगा 12बजे के बाद डालते होगे। 1,2…..4,5…ब्ज गए। शाम हो गया। मुझे तब भी लग रहा था शायद रात मे डालते होगे। शायद busy होंगे रात तक आ जाएगा। 10,11 बज गए। कोई पोस्ट नहीं। मुझे तब भी लग रहा था कि शायद एक दो दिन आगे पीछे हो जाता होगा। कोई नहीं। पर मुझे शक भी हो रहा था कि कैसे कोई comment nhi कर रहा है अभी तक पोस्ट नहीं आया फिर भी। सब os.me मे अपने ब्लॉग्स डाल रहे है। मुझे नहीं पता था  os.me के बारे में ज्यादा कुछ तो मुझे बाकी किसी से पूछने में भी झिझक लग रहा था। 

फिर मै सोची एक बार search किया जाए आखिर कब कब पोस्ट डालते है। मै फिर ब्लॉग्स के date match करने लगी । बहुत ढूंढने पर मिला की केवल पहली और तीसरी शनिवार को ही स्वामीजी कि पोस्ट आती है। मै सिर पकड़कर बैठ गई थी अपना और खुद पे हंसी भी आ रही थी बहुत। मुझे पता है स्वामीजी को भी खूब हंसी आया होगा मुझपर। 🤭🤭😊😊🙆🙆😁😁

Swami 💕🙏😊.

Thanks for reading to all of you . Jai sri Hari 🙏😊.

Pay Anything You Like

Abha

Avatar of abha
$

Total Amount: $0.00