श्री राधेश्याम

मित्रों मैं आशा करता हूं आप सभी स्वस्थ और मस्त होंगे बात परसों की है जब मेरे मित्र कुलदीप का मुझे फोन आया बोला तुझे ग्वालियर नगर निगम कमिश्नर के सामने स्वच्छ भारत पर कोई कविता लिख कर सुनाना है मैं उसको मना नहीं कर पाया और मैंने हां कर दी प्रोग्राम सुबह था तो मुझे रात भर कविता लिखना बड़ी सोच सोच कर मैंने कविता पूरी करी सुबह जब मैं निकला तो छत्रपति शिवाजी महाराज की जयंती थी पूरे ग्वालियर में ट्रेफिक लगा हुआ था मैं टैंपू से गया था तो वहां पहुंचने में लेट हो गया फिर भी मुझे वहां पर  कमिश्नर साहब मिल गये मेरे दोस्त ने मुझसे कहा जाकर कविता सुनाओ पर टेंपो ने मुझे जिस बिल्डिंग में जाना था वहांसे  बहुत दूर उतार दिया था मैं पहुंच तो गया था पर घर से सुबह से निकला था ना पानी पिया था ना कुछ खाया था मुझे प्यास लग रही थी मैं बिना पानी के कविता नहीं बोल सकता था और मैंने पानी की मांग करी मुझे बड़ी देर से पानी मिला  हमारे  प्रोग्राम का टाइम हो गया था हम सबको जीवाजी यूनिवर्सिटी जाना था वहां पर हमारे आदरणीय प्रधानमंत्री जी श्री नरेंद्र मोदी जी हमारे मध्य प्रदेश के मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान जी भारत की सबसे स्वच्छ सिटी इंदौर मैं गोवर्धन प्लांट का उद्घाटन करने वाले थे उसी के उपलक्ष में वहां पर लाइव प्रोग्राम था हमारे जिले के गणमान्य लोग उस सभागार में मौजूद थे प्रोग्राम में इतना समय निकल गया कि मुझे मौका नहीं मिला फिर से और मेरी कविता मुझ तक ही सीमित रह गई परंतु आज मैं उसे आपके साथ शेयर कर रहा हूं……………..

कविता 

स्वच्छ भूमि है स्वच्छ धरा है भारत स्वच्छ बनाना है….
हम सबको ही मिलकर भारत मां को स्वच्छ बनाना है….2

खुले में ना कोई शौच करें…ना कचरा कूड़ा बाहर हो… 2 साफ सफाई ऐसी मिले की निर्मल बनता भारत हो….2

हम सबको ही मिलकर भारत मां को स्वच्छ बनाना है….2 स्वच्छ भूमि है स्वच्छ धरा है भारत स्वच्छ बनाना है…2

कचड़ा अलग अलग जब डाले…जिम्मेदारी सबकी है… 2 राष्ट्र हित में यह सहयोग भी देश की सच्ची भक्ति है….2

स्वच्छ भूमि है स्वच्छ धरा है भारत स्वच्छ बनाना है….2
हम सबको ही मिलकर भारत मां को स्वच्छ बनाना है….2

ना गंदगी करनी है और ना गंदगी करानी…2
रोको टोको आदत हमको अब यह अपनानी है…2

स्वच्छ भूमि है स्वच्छ धरा है भारत स्वच्छ बनाना है….2
हम सबको ही मिलकर भारत मां को स्वच्छ बनाना है….2

निर्मल कुएं निर्मल बावड़ी निर्मल गंगा करनी है…2
शुद्ध जल के आसपास हमें गंदगी नहीं करनी…2

स्वच्छ भूमि है स्वच्छ धरा है भारत स्वच्छ बनाना है….2
हम सबको ही मिलकर भारत मां को स्वच्छ बनाना है….2

मच्छर मक्खी और गंदगी बीमारी से बचना है… साफ-सफाई मंत्र है अपना…2 सबको मिलकर करना है..2

स्वच्छ भूमि है स्वच्छ धरा है भारत स्वच्छ बनाना है….2
हम सबको ही मिलकर भारत मां को स्वच्छ बनाना है….2

एक ये सपना ग्वालियर अपना नंबर वन बनाना है…2
यह संकल्प आज हम सबको मन में कर-कर जाना हैं…..2

स्वच्छ भूमि है स्वच्छ धरा है भारत स्वच्छ बनाना है….2
हम सबको ही मिलकर भारत मां को स्वच्छ बनाना है….2

Pay Anything You Like

Vikram Singh Parihar

Avatar of vikram singh parihar
$

Total Amount: $0.00