मन के एहसास

मन के एहसास कुछ इस कदर उलझ से गए हैं…
कि गुस्सा जिन पर आता है,उन पर उतारा नहीं जाता..
उमर का कहूं या कलयुग का ऐसा दौर है कि अपनों से प्यार पाया नहीं जाता….
जिंदगी की खूबसूरत कहानियां तो अब मेरे लिए झूठी सी है…
क्या करूं बिना जीए खुशी के पलों को असलियत माना नहीं जाता…
लाख कोशिशों के बाद भी इन एहसासों को संभाला नहीं जाता…
दुसरों की जिंदगी को देखें तो अपनापन, प्यार और दोस्ती सुहानी सी लगती है….
पर एक नज़र खुद की और डालूं तो जिंदगी के गमों को भुलाया ही नहीं जाता..
मन में छिपी भावनाओं को जताया नहीं जाता….
किसी को भी यूं ही अपना बनाया नहीं जाता….
किसी को भी यूं ही अपना बनाया नहीं जाता….

Shivani ….

यह एहसास बस कुछ समय के लिए आते हैं और फिर परिस्थितियों के अनुसार बदल भी जाते हैं……इन एहसासों पर हमारा बस नहीं होता…..

यह एहसास बस मन की भावनाएं हैं…. और भावनाएं तो बदलती रहती हैं…..

अगर आप भी भावनाओं में बह जाते हैं तो इसमें कोई बुराई नहीं…..यह भावनाएं तो हमारी जिंदगी का एक हिस्सा है……..

लेकिन एक बात का हमेशा ध्यान रखें कि आपकी भावनाओं के कारण किसी को नुक्सान नहीं पहुंचे….

हमेशा दूसरों के प्रति अच्छी भावनाएं ही रखें… ऐसा करने से आपको भी सकारात्मक ऊर्जा मिलेगी और आप दूसरों का भला भी चाहेंगे….

यह एहसास और भावनाएं चंचल होती हैं….इनको संभालना मुश्किल है लेकिन यह हमारे ही हाथ में है कि हम ध्यान रखें कि ऐसी कोई भावना हमारे मन में ना आए जो दूसरों का बुरा चाहती हो….

ऐसा करने से आपके मन और शरीर को अच्छी ऊर्जा मिलेगी और आप खुद को दूसरों से कही ऊपर उठा पाएंगे…

क्योंकि भावनाओं पर नियंत्रण रखकर सबसे अच्छा व्यवहार करने वाला मनुष्य ही श्रेष्ठ है…… यही बात हमें दूसरों से अलग करती है…..🙏🙏

आज से आप सब भी मेरे साथ यह निर्णय लें कि हम मन की भावनाओं को नियंत्रित करने की कोशिश करेंगे और सब के भले की ही कामना करेंगे….

इस प्रतिक्रिया को आजमाने से आपको ज़रूर अपनी जिंदगी में सकारात्मक परिवर्तन देखने को मिलेंगे….

मुझे बताए कि आप सब ने इसे आजमाया और आपको कैसा परिणाम मिला……आप सब इस विषय पर अपनी -अपनी जिंदगी के किस्से, अनुभव और विचार भी हमारे साथ बांट सकते हैं….

हमें बहुत खुशी होगी…

आप सबका बहुत बहुत धन्यवाद 🙏🙏

मुझे आपके सहयोग की बहुत ज़रूरत है 🙏🙏