Divine the blessed is being over run by dangerous stampede of money, money and money. Though money has its second appropriate place in our lives but Divine the God has always its permanent abode in One. This power of One regulates everything in automation that is unpathomable to be calculated by human brain. Money has become desease of human calculations and making life miserable in this planet. Money should have been the treasure of Society in this Universe but it has become the desease of the individual mind thereby making man misrable. Our sages in India are telling us since long about this which we have to follow ardently. We the people of this land has to wakeup from this slumber and guide the western world to comeback from these dirty calculations. May God help us to trigger the positive feeling in human consciousness to get free from this dire situation.

धन, धन और धन की खतरनाक भगदड़ से दैवीय धन्य पर काबू पाया जा रहा है। यद्यपि धन का हमारे जीवन में दूसरा उपयुक्त स्थान है, लेकिन ईश्वर का हमेशा एक में स्थायी निवास होता है। एक की यह शक्ति स्वचालन में हर उस चीज को नियंत्रित करती है जिसकी गणना मानव मस्तिष्क द्वारा की जा सकती है। पैसा मानव गणना और इस ग्रह पर जीवन को दुखी करने का रोग बन गया है। इस ब्रह्मांड में पैसा समाज का खजाना होना चाहिए था लेकिन यह व्यक्ति के दिमाग की बीमारी बन गया है जिससे मनुष्य दुखी हो गया है। भारतवर्ष में हमारे ऋषि-मुनि बहुत पहले से इस बारे में बता रहे हैं जिसका हमें उत्साह से पालन करना है। हम इस देश के लोगों को इस नींद से जागना होगा और इन गंदी गणनाओं से वापस आने के लिए पश्चिमी दुनिया का मार्गदर्शन करना होगा। ईश्वर हमें इस विकट स्थिति से मुक्त होने के लिए मानव चेतना में सकारात्मक भावना को जगाने में मदद करें।

Pay Anything You Like

Behari Chauhan

Avatar of behari chauhan
$

Total Amount: $0.00