Hi all,

Its a long time since I have posted here.

I want to share a information about a “Spiritual Book Shop” run by a person from Last 30 Years independently.

His Name is Sushil Tambi Ji and name of Book Store he ran is “Pragyaa Sadhana Adhyatmik Pustak Kendra“.

In the last 3-4 months I came into contact of him and got to know about selfless service he is doing for the welfare of the Sadhkas and Spiritual Seekers.

Link

He has very good and enormous collection of nearly all books (specially in Hindi Language) from different organisations of India.

I myself has purchased several books from him, which are rare to find anywhere or difficult to collect. 

If someone want to get benefit from above book shop you can connect with him at links given below :- 

1. Link 1 

2. Link 2

3. Brochure Link (old, not updated. Many books are not listed in this) 

One stop destination for spiritual books..... 2 Contact details
Ankvyas 1

Testimonials by Others (Taken from a Facebook Post)

पुस्तक प्रेमी होने के कारण पुस्तकों की कयी दुकानों पर जाना हुआ। पर गत रविवार को एक अनूठा अनुभव हुआ अपने पुस्तक प्रेम के कारण। जयपुर मे यह जगह है प्रज्ञा आध्यात्मिक पुस्तक केन्द्र। इसके संचालक हैं Sushil Tambi जी। उनसे फेसबुक के माध्यम से परिचय था। पर मुलाकात पहली थी। उनके स्नेहपूर्ण व्यवहार से लगा कि मानों हम काफी पहले से परिचित हों।
जाते ही उन्होंने मोबाइल पर फोटू खींची। फिर अपनी स्केच बुक निकाल छह सात मिनट में मेरा रेखाचित्र खींच डाला।
इस बीच में उनके पुस्तक संग्रह को देखता रहा। अध्यात्म और धर्म क्षेत्र की पुस्तकों का गजब का संग्रह। ऐसी पुस्तकें प्रायः बाजार में आ ही नही पाती हैं क्योंकि वे संबंधित संत महात्मा के आश्रम या अनुयायियों तक सीमित रह जाती हैं।। कयी ऐसी पुस्तकें एक बार छपने के बरसो बाद दोबारा आती हैं या आ ही नहीं पाती। प्रख्यात ज्योतिष विद्वान श्री के एन राव जी ने एक बार मुझसे कहा था, ” एऐसी पुस्तकें जर्मनी कि गिरी दीवारों की ईंटें हैं। जहां मिलें बटोर लो।”
बहरहाल सुशील भाई से करीब तीन घंटा तमाम बातो पर चर्चा होती रही। हम दोनों का प्रिय विषय था मां आनंदमयी से जुड़ी बाते। बाद मे भाभी जी ने दिव्य भोजन करवाया। एक चौबे को भला और क्या चाहिए।
यह तस्वीरे सुशील भाई की हैं, मेरा रेखाचित्र बनाते हुए।

One stop destination for spiritual books..... 3 One stop destination for spiritual books..... 4

One Can also contact him directly on mobile or whatsapp number given in above links.

Jai Shri Hari ! 🙏🙏

Image Courtesy :- shutterstock.com

Pay Anything You Like

ankvyas

Avatar of ankvyas
$

Total Amount: $0.00