हे खा न न न न खनखनात
हे ता न न न न तन्तानात
आय जा न न न न न जन्जनत
छ न न न न न न न जी जी जी जी जी हे.. हा

प्रेम है ,
ढोली तारो ढोल बाजे ढोल बाजे ढोल बाजे ढोल,
की धम धम बाजे ढोल..💕

प्रेम है ,
अपने दीवाने का कर दे बुरा हाल
रे जी अंखियों से गोली मारे..💕

प्रेम है ,
मी पाहिलं तुझ्या डोळ्यामध्ये
कधी शंभर एक कधी शंभर दोन..💕

प्रेम है ,
दिल दीवाना बिन सजना के माने ना
ये पगला है, समझाने से समझे ना..💕

प्रेम है ,
दिल है कि मानता नहीं
मुश्किल बड़ी है रस्मे मोहब्बत
यह जानता ही नहीं..💕

प्रेम है ,
चप्पा चप्पा चरखा चले
औनी-पौनी यारियाँ तेरी
बौनी-बौनी बेरियोँ तले..💕

प्रेम है ,
चाँद ने कुछ कहा
रात ने कुछ सुना
तू भी सुन बेखबर 
प्यार कर ओह ओह प्यार कर..💕

प्रेम है ,
निंदिया से जागी बहार
ऐसा मौसम देखा पहली बार..💕

प्रेम है ,
शाम सवेरे तेरी यादें आती हैं
आके दिल को मेरे यूँ तड़पाती हैं
ओ सनम मोहब्बत की कसम..💕

प्रेम है ,
उड़ता ही फिरूँ इन हवाओं में कहीं
या मैं झूल जाऊँ, इन घटाओं में कहीं..💕

प्रेम है ,
मन मस्त मगन मन मस्त मगन
बस तेरा नाम दोहराएं..💕