Satyam's writings


करुणा

उनका रोना बताता है कि औरत क्यों देवी का रूप कही जातीं हैं।

Avatar of satyam tiwari

मैं सत्यम : किचन से 😃

ये अन्नक्षेत्र मेरा लीलाक्षेत्र है

Avatar of satyam tiwari

भूल भुलैया

हर किसी के जीवन की भूल-भुलैया

Avatar of satyam tiwari

मेरे हनुमान

हनुमान साधना🌺🌺

Avatar of satyam tiwari

नदी

' मैं नदी था या नदी मुझ में थी'

Avatar of satyam tiwari

परम् आलसी😁😁

आलस नगर का आलसी, एक दिन आलस भवन में।

Avatar of satyam tiwari

परम् आलसी😁

आलसी होते नहीं ,आलसी अवतार लेते हैं😁

Avatar of satyam tiwari

ANGER BOM

क्रोध से हुआ विस्फ़ोट अपने आस-पास के साथ सबसे ज्यादा हमें आहत करता है

Avatar of satyam tiwari

😁😁आनंद की खोज😁😁(प्रशंसा और निंदा)

बेचारा इंसान आदिकाल से आनंद का खोजी है

Avatar of satyam tiwari

महाशिवरात्रि

दिव्य प्रेम की जीती जागती रात्रि

Avatar of satyam tiwari

तुम्हारा पिता भूतकाल से

'ये जगत अनिश्चितताओं का नीड़ है इसलिए कभी भी घबराना मत'

Avatar of satyam tiwari

कबीर

कबीर की नज़र🌺🌺

Avatar of satyam tiwari

“एकांत और अकेलापन”

एकांत में हम घुलते हैं जबकि अकेलापन हमे घोलता है

Avatar of satyam tiwari

The community is here to help you with your spiritual discovery & progress. Be kind & truthful! Some pointers to get good answers:

Author Name

Author Email

Your question *